तेलंगाना में बोरवेल में गिरे मासूम की हो गई मौत, 12 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद भी नहीं मिल पाई सफलता

तेलंगाना के मेडक जिले के पापन्नापेट मंडल के पोड्चना पल्लीगांव में बोरवेल में गिरे तीन साल के बच्चे की मौत हो गई। संजई साई वर्धन नाम का बच्चा बुधवार को अपने नाना के साथ खेत में गया था। खेत में ही खेलते-खेलते साई वर्धन बोरवेल में अचानक गिर गया। इसको बचाने के लिए लगभग 12 घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया लेकिन बच्चे की जान नहीं बचायी जा सकी। आज सुबह पांच बजे के आसपास बच्चे के शव को बोरवेल से बाहर निकाला गया।
पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि घटना शाम करीब पांच बजे जिले के पापन्नापेट मंडल स्थित एक खेत में हुई जहां बच्चा अपने दादा और पिता के साथ खेल रहा था। इस दौरान खेत में बोरवेल की खुदाई की जा रही थी लेकिन पानी नहीं निकलने पर उसे वैसे ही छोड़ दिया गया। तभी बच्चा खेलते-खेलते खुले बोरवेल में गिर गया।

घटना जानकारी मिलते ही मेडक रूरल के एसआई राजशेखर और आंजनेयलू सहित स्थानीय अधिकारी घटनास्थल पहुंच गए। बच्चे को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए हैदराबाद से एनडीआरएफ की विशेष टीम भी बुलाई गई। बच्चे को बचाने की हरसंभव कोशिश की गई लेकिन रेस्क्यू ऑपरेशन सफल न हो सका। समाचार लिखे जाने तक बालक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है।

उल्लेखनीय है कि संगारेड्डी जिले के पटनचेरू निवासी मंगली गोवर्धन व नवीना का तीसरा बेटा साई वर्धन चार महीने पहले पोड्चनपल्ली गांव स्थित अपनी नानी के पास माता-पिता के साथ आया था।