कार में डीजल की जगह भर दिया 1 हजार रुपए का पानी, जांच करने पहुंची टीम नजारा देखकर रह गई हैरान

बालोद जिला मुख्यालय के नए बस स्टैंड के पास स्थित पेट्रोल पंप में एक कार में डीजल की जगह पानी भर दिया गया, जिससे बवाल हो गया। डोंगरगढ़ का एक व्यक्ति किसी काम के सिलसिले में बालोद आया। पेट्रोल पंप में डीजल भरवाकर वापस जा रहा था, तभी कुछ ही दूर जाने के बाद उसकी गाड़ी बंद हो गई। वह वापिस उसी पेट्रोल पंप में पहुंचा। दूसरी बार गाड़ी के डीजल टैंक को खाली करवाकर डीजल डलवाया, जिसमें फिर पानी निकला। कुछ ही देर में दर्जनों लोग जमा हो गए। इसकी जानकारी खाद्य विभाग की टीम को मिली। मौके पर फूड इंस्पेक्टर सहित अन्य लोग पहुंचे।
डोंगरगढ़ से आए मुकेश कुमार साहू ने बताया कि वह पीएचई दफ्तर किसी काम के सिलसिले में आया था। गाड़ी में डीजल कम होना देख डीजल भरवाने बस स्टैंड के पास स्थित पुरुषोत्तम दास संतोष पेट्रोल पंप में पहुंचा। वहां 1000 रुपए का डीजल डलवाया। थोड़ी दूर जाने के बाद गाड़ी बंद हुई तो वह पेट्रोल पंप वापस लौटा, तब कर्मचारियों ने गाड़ी की डीजल टंकी देखी तो उसमें पानी मिला। वह अपनी गलती मान कर टैंक साफ करवाया। दोबारा से एक हजार रुपए का डीजल डलवाया। जिसमें फिर पानी निकला। तब उन्हें पता चला कि समस्या उनकी गाड़ी में नहीं बल्कि पेट्रोल पंप में है।

पेट्रोल पंप के मैनेजर श्रवण साहू ने कहा कि एक टैंक में ऐसी समस्या है। बाकी सभी टैंक ठीक है। सॉफ्टवेयर खराब हो जाने के कारण टैकों में भरे डीजल की मात्रा व उसमें पानी की मात्रा होने की जानकारी नहीं मिल पाई। एक दिन पहले हुई बरसात का पानी डीजल टैंक में किसी ओर से पहुंच जाने की बात मैनेजर ने कही। मौके पर पहुंचे अधिकारियों के सामने अपनी गलती स्वीकार कर ली।