प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के 2000 हजार रुपए आपके बैंक खाते में आ गये हैं, अभी नहीं मिले हैं तो इस नंबर पर करें कॉल, जल्द मिलेगी पूरी रकम

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के बैंक खाते में 2000 रुपए ट्रांसफर कर दिये गये हैं। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्ववीट करते हुए बताया कि पीएम-किसान योजना के तहत 18,253 करोड़ रुपये 9.13 करोड़ किसानों के बैंक खाते में भेज दिये गये हैं। पीएम किसान योजना में उत्तर प्रदेश के 2 करोड़ 17 लाख से ज्यादा उत्तर प्रदेश के किसान रजिस्टर्ड हैं। सभी के बैंक अकाउंट में पैसे भेजे गये हैं। आज ही अपना बैंक खाता चेक करें। अगर आपके खाते में पैसे नहीं आये हैं तो इस तरह से आप अपने बैंक खाते में पैसे मंगा सकते हैं।पीएम किसान सम्मान निधि के 2000 हजार रुपए आपके बैंक खाते में आये हैं या नहीं वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाकर चेक करें। चेक करने के लिए वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं। होम पेज पर मेन्यू बार में 'फार्मर कार्नर' पर दिखेगा। 'लाभार्थी सूची' के लिंक पर क्लिक करें। फिर अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें। इतना भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें और आपको पता चल जाएगा की लिस्ट में आपका नाम है कि नहीं।

पीएम किसान सम्मान निधि के पैसे अगर आपके बैंक खाते में नहीं आये हैं तो इस बाबत आप अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी को अवगत करायें। फिर भी आपका काम न हो तो केंद्रीय कृषि मंत्रालय की हेल्पलाइन की मदद लें। इसके लिए आपको पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर 155261 या टोल फ्री 1800115526 नंबर पर संपर्क करना होगा। अपनी डिटेल देकर वहां से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आप मंत्रालय के नंबर (011-23381092) पर भी अपनी बात कह सकते हैं। पीएम-किसान सम्मान निधि योजना के बारे में और अधिक जानने के लिए www.yojanagyan.in पर क्लिक करें।

पीएम किसान निधि- वर्ष में मिलते हैं 6000 रुपए

पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत साल भर में किसानों को हर चार महीने पर 2000 रुपये की तीन किस्तें दी जाती हैं। साल भर में कुल 6000 रुपए मिलते हैं। इस योजना का लाभ लेने में उत्तर प्रदेश देश के अन्य राज्यों से आगे है। ही 9.59 करोड़ लोग अब तक इस योजना से लाभान्वित हो चुके हैं, लेकिन अभी भी करीब पांच करोड़ किसान इस योजना का लाभ लेने से वंचित हैं, जिनमें यूपी के लोगों की तादाद काफी है। इस योजना के तहत यूपी के 2 करोड़ 17 लाख से ज्यादा किसान पंजीकृत हैं।