कोरोना के डर में 2 भाइयों को मिली आजादी, लेकिन पूरे गांव ने उनकी जिंदगी छीन ली

बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस के मद्देनजर निर्देश दिए कि जेलों से भीड़ कम की जाए. इसी के तहत असम के एक गाँव के दो भाइयों को जो कि लूट और हत्या के आरोप में दो महीने पहले जेल गए थे, उन्हें परोल पर छोड़ा गया. अब खबर यह आ रही है कि इन दोनों भाइयों को ग्रामीणों ने पीट-पीट कर मार डाला.
रिपोर्ट के मुताबिक ये दोनों भाई डकैती और जबरन वसूली के मामलों में शामिल थे और कई महीने तक जेल में रह चुके थे. जेल से छूटने के बाद ये दोनों भाई अपने एक रिश्तेदार के घर में रह रहे थे. घटना से दो दिन पहले हीं दोनों भाई बक्सा जिले में अपने गाँव अथिअबारी लौटे थे. जहाँ गांववालों ने दोनों की पीट-पीट कर हत्या कर दी. इस घटना में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है, वहीँ बाक़ी के आरोपी फरार हैं.

बक्सा जिले के एसपी प्रतीक विजय कुमार ने बताया कि: दोनों भाइयों को 22 अप्रैल की सुबह मारा गया. इस घटना में अभी तक दो लोगों की गिरफ्तारी हुई है और फरार आरोपियों की तलाश जारी है. अभी इस बात की पुष्टि भी नहीं हुई है कि गाँव वालों और दोनों भाइयों के बीच किस बात को लेकर झगडा हुआ?

इन्डियन एक्सप्रेस को पड़ोस के गाँव वालों ने बताया कि दोनों भाई गाँव वालों को परेशान करते थे, वसूली करते थे और न देने पर अपहरण की धमकी देते थे. इसी बात से नाराज गाँव वालों ने दोनों भाइयों को पीट-पीट कर मार डाला.