घर वापस आया 3 साल पहले मर चुका बेटा, पिता ने कर दिया था उसका अंतिम संस्कार

मध्य प्रदेश के छतरपुर में एक मां-बाप को उनका तीन साल पहले मर चुका बेटा वापस मिल गया है. बेटे को इतने साल बाद अचानक देखकर मां-बाप के साथ गांव वाले भी हैरान हो गए. इस बेटे का उन्होंने तीन पहले अंतिम संस्कार किया था. 
जहां कोविड-19 लोगों की जान ले रहा है, वहीं मध्य प्रदेश के छतरपुर में एक मां-बाप को उनका तीन साल पहले मर चुका बेटा वापस मिल गया है. तीन साल पहले जिस बेटे के शव का अंतिम संस्कार कर दिया था, वह लॉकडाउन के चलते अचानक अपने घर पहुंच गया.
तीन साल बाद बेटे को जिंदा देख लोग हैरान हो गए. लड़के के मां-बाप क साथ-साथ पूरे गांव में खुशी का महौल हो गया है. बेटे के घर पहुंचने पर लड़के मां-बाप ने खुशी जतााई है. बेटे का नाम उदय है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, उदय छतपुर के बिजावर के डिलारी गांव के रहने वाले भगोला आदिवासी का बेटा है. वह तीन साल पहले गायब हो गया था. 
उसके गायब होने के बाद मां-बाप ने थाने में प्राथमिकी दर्ज करवाई. जिसके बाद उसकी खोज शुरू हुई. पुलिस को उदय तो नहीं मिला, लेकिन एक कंकाल मिला. जिसके बाद उसकी घर वालों से शिनाख्त करवाई गई. एक कपड़े को देखकर उदय के मां-बाप से इस कंकाल की पुष्टि की और उसका अंतिम संस्कार कर दिया. इसके बाद उसके मां-बाप हताश हो गए. लेकिन तीन साल बाद वह अचानक वापिस आ गया.
बेरोजगारी और लॉकडाउन के चलते जब सभी मजदूर अपने-अपने घर पहुंचे रहे हैं. तब उदय भी अपने घर पहुंचा. घर पहुंचते के साथ ही उसके मां-बाप उसे पुलिस स्टेशन लेकर गए और उन्हें पूरी बात बताई. घर वापिस आने के बाद उदय ने भी खुशी जाहिर की और इन तीन सालों के बारे में बताया. उसने कहा,'मैं दिल्ली भाग गया था जहां कुछ लोग मुझे झूठे चोरी के मामले में फंसा रहे थे.' इसके बाद वह गुड़गांव की एक फैक्ट्री में काम कर रहा था और वहीं रहता था.