मंदबुद्धि बहन के साथ बड़े भाई ने 3 दोस्तों के साथ किया बेरहम काम, फिर गला दबाकर किया हत्या...

जयपुर जिले के मनोहरपुर इलाके में 10 साल की मंदबुद्धि बच्ची के अपहरण व मर्डर का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने उसके सगे बड़े भाई और तीन दोस्तों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। 17 मई की शाम को हुई वारदात में भाई ने छोटी बहन का अपहरण करने के बाद सूनसान जगह पर अपने तीन दोस्तों के साथ बारी-बारी से गैंगरेप किया। इसके बाद गला दबाकर बहन की हत्या कर दी। चारों ने लाश को पहाड़ी वन क्षेत्र में एक नाले में फेंक दिया। 
बच्ची के शरीर से उसके कपड़े और चप्पल उतारकर आसपास बबूल के पेड़ों पर फेंक दिया। वारदात में मुख्य अभियुक्त शातिर भाई व उसके दोस्तों ने पुलिस को गुमराह करने के लिए पुलिस के साथ लापता बहन को तलाश करने में मदद का नाटक करते हुए गुमराह करने का प्रयास भी किया। सीसीटीवी फुटेज, मोबाइल कॉल डिटेल्स के आधार पर हुई जांच में पुलिस की गिरफ्त में आ गए।

रेंज आईजी एस. सेंगाथिर ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी शाजिद अली (19), अमजद अली (19), वाजिद अली (20) और मुख्य आरोपी जीशान अली (20) है। इनमें जीशान अली मृतक बच्ची का बड़ा भाई है। ये चारों आरोपी मूल रुप से बरेली, यूपी के रहने वाले है। पिछले लंबे वक्त से टोडी गांव, मनोहरपुर में रहकर ईंट भट्‌टे पर मजदूरी करते है। जयपुर ग्रामीण एसपी शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि 10 वर्षीया मृतका बच्ची मंदबुद्धि बच्ची से उसके परिजन परेशान रहते थे। इस बीच उसके भाई व दोस्तों की गलत संगत से दुष्कर्म कर हत्या की साजिश रची।
17 मई की शाम को जीशान अली अपने तीनों आरोपी दोस्तों के साथ अपनी मंदबुद्धि बहन को घर से बहाना कर टोडी गांव के पहाड़ी जंगलों में ले आए। वहां भाई जीशान और उसके तीनों दोस्तों ने मासूम बच्ची से बारी बारी से दुष्कर्म किया। इसके बाद गला दबाकर हत्या कर शव को नाले में फेंक दिया। जयपुर ग्रामीण एसपी शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि मृतक बच्ची के पिता ने 18 मई को मनोहरपुर थाने में एक रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि जिसमें बताया कि उनकी 10 साल की बेटी मानसिक विक्षिप्त है। 
वह वह 17 मई शाम 4 बजे अचानक घर से लापता हो गई है। तब पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज कर अनुसंधान शुरु किया। इसके बाद 21 मई को लापता हुई बच्ची का शव मनोहरपुर के कुंभावास में वन क्षेत्र में क्षत-विक्षत हालत में मिला। पुलिस ने एफएसएल टीम से मौका मुआयना करवाया। इसके बाद शव का निम्स हॉस्पिटल, चंदवाजी में पोस्टमार्टम करवाया। जिसमें बच्ची की हत्या व दुष्कर्म का मामला सामने आया।