लॉकडाउन में सड़क किनारे सो रहे मजदूरों को ट्रक ने रौंदा, 3 की हुई दर्दनाक मौत

उत्तर प्रदेश में आए दिन हर रोज मजदूरों के साथ हादसे के मामले सामने आ रहे हैं। शुक्रवार सुबह मिर्जापुर में एक तेज रफ्तार ट्रक ने सड़क किनारे सो रहे प्रवासी मजदूरों को रौंदते हुए निकल गया। इस हादसे में तीन मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। तीनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। वहीं, घटना के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कुछ मजदूर इनोवा गाड़ी से मुंबई से बिहार की ओर लौट रहे थे।
काफी थकावट हो जाने के चलते रात में ड्राइवर ने गाड़ी रोक दी और लालगंज के पास आराम करने के लिए रुक गया। सभी मजदूर आराम करने के लिए सड़क किनारे सो गए थे। इस बीच सुबह एक तेज रफ्तार ट्रक का अचानक स्टेयरिंग फेल हो गया। इस दौरान सड़क किनारे सो रहे मजदूरों को रौंदते हुए पार कर गया। हादसे के बाद मौके पर आसपास के लोग पहुंचे। गाड़ी में फंसे लोगों को बाहर निकालकर सभी घायलों को सीएचसी में ले जाया गया। हालत गंभीर होने के कारण चार मजदूरों को बीएचयू के ट्रामा सेंटर में रेफर कर दिया।

इसके अलावा दूसरी घटना बुलंदशहर में हुई। बुलंदशहर में प्रवासी मज़दूरों से भरी मैक्स पिकअप वैन इलक्ट्रिक पोल से जा टकराई। इसके कारण गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में दो मज़दूरों ने मौके पर दम तोड़ दिया। जबकि करीब 18 मज़दूर घायल हो गए। यह घटना दिल्ली बदायूं हाइवे के अहमदगढ़ थाना के ख़खुडा गांव के पास की है। ये सभी मजदूर सूरत से यूपी के बिजनौर जा रहे थे।