अमेरिका में कोरोना से मचा हाहाकार, 85 हज़ार से भी अधिक हुईं मौतें, 14 लाख बीमार

अमेरिका में कोरोना महामारी का कहर थम नहीं पा रहा है. बुधवार को अमेरिका में 21,712 नए केस सामने आए और 1,772 कोरोना पीड़ितों की मौत हुई है. जबकि इससे एक दिन पहले अमेरिका में 22,802 नए केस आए थे और 1,630 लोगों की मौत हुई थी. पूरी दुनिया के करीब एक तिहाई कोरोना मरीज अमेरिका में ही हैं. यहां 14 लाख से ज्यादा लोग कोरोना से प्रभावित हो चुके हैं. न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी, कैलिफॉर्निया में सबसे ज्यादा मामले देखने को मिल रहे हैं.
वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या गुरुवार सुबह तक बढ़कर 14 लाख 30 हजार 348 हो गई. वहीं कुल 85,197 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि तीन लाख लोग ठीक भी हुए हैं. अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में सबसे ज्यादा 350,848 केस सामने आए हैं. सिर्फ न्यूयॉर्क में ही 27,290 लोग मारे गए हैं. इसके बाद न्यू जर्सी में 142,861 कोरोना मरीजों में से 9,727 लोगों की मौत हुई. इसके अलावा मैसाचुसेट्स, इलिनॉयस भी सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

अमेरिकी वेबसाइट ‘ग्रेजोन’ के संस्थापक मैक्स ब्लूमेंथल ने हाल में चाइना मीडिया ग्रुप के संवाददाता को दिए एक वीडियो इंटरव्यू में कहा कि अमेरिकी सरकार ने महामारी की सूचना की अनदेखी की, जिसकी वजह से अमेरिका में महामारी का गंभीर प्रकोप देखने को मिल रहा है.

महामारी की स्थिति गंभीर होने के बाद अमेरिका ने अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ते हुए चीन को कसूरवार ठहराया है. इससे देश को फायदे के बजाए नुकसान पहुंचेगा. ब्लूमेंथल ने यह भी कहा कि 3 जनवरी को ही चीन ने नियमित रूप से विश्व स्वास्थ्य संगठन, अमेरिका समेत संबंधित देशों को समय पर और सक्रिय रूप से महामारी की सूचना दी थी. चीन द्वारा दी गई चेतावनी को अमेरिकी अधिकारियों ने अनदेखी की. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि ‘सब कुछ नियंत्रण में हैं.’ उन्होंने जनवरी की शुरूआत में चीन के कोविड-19 महामारी के मुकाबले कार्य की प्रशंसा की थी, यह अमेरिकी विदेश मंत्रालय के कथन से बिलकुल अलग है