लॉकडाउन में बेटी का बर्थडे केक लेने गया था पिता, 8 साल के बेटे को डुबोकर मार डाला

मध्य प्रदेश के बालाघाट में शुक्रवार को एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई. जहां एक पिता ने अपने 8 साल के मासूम बेटे के दोनों हाथ बांधकर वैनगंगा नदी में डुबोकर मार डाला. घटना के बाद हत्यारा पिता पहले अपने घर गया. 
बेटे को नदी में डुबोकर मारने की बात बताई और फिर खुद कोतवाली पहुंच कर पुलिस को अपने बेटे की हत्या करने की जानकारी दी. बेटे की हत्या करने के पहले पिता उसे बाजार लेकर गया था. आरोपी की बड़ी बेटी का जन्मदिन था. केक लेने के बहाने पिता बेटे को साथ ले गया. नदी में बेटे के दोनों हाथ अपने बेल्ट से बांधे और डुबोकर मार दिया.

बच्चों को नदी से निकाला गया
कोतवाली टी आई विजय परस्ते ने बताया कि सुनील जायसवाल नाम के एक आदमी ने अपने बेटे प्रतीक की नदी में फेंक कर हत्या कर दी. आरोपी ने बताया कि उसके पास कोई काम नहीं था इसलिए उसने अपना वंश खत्म कर दिया.
कोतवाली टी आई विजय परस्ते के मुताबिक, आरोपी पिता की बड़ी बेटी का आज जन्मदिन था. निशा के बर्थडे का केक लाने वह बेटे को लेकर बाजार गया था, लेकिन उसने बेटे की हत्या कर दी. हमने आरोपी पिता को हिरासत में लिया है और अपराध दर्ज कर लिया गया है.
हत्यारे पिता ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि उसके पास कोई काम नहीं था. परिवार को पालने में समर्थ नहीं होने के कारण उसने अपने बेटे की हत्या कर दी. उसने कहा कि बेटे को मार कर वह अपना वंश खत्म करना चाहता था. परिजनों के अनुसार, आरोपी के पास काम नहीं होने के कारण वह अकसर तनाव में रहता था.