फिर हुआ एक दर्दनाक हादसा, घर पहुंचने से पहले ही मजदूरों की मौत! बस काटकर निकाली गईं लाशें

लॉकडाउन की वजह से पलायन कर रहे मजदूरों के साथ हादसों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसी ही एक दर्दनाक हादसे की खबर छत्तीसगढ़ से सामने आई है। जहां ट्रेलर और बस में जबरदस्त टक्कर हो गई, इस हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई है। जबकि 23 लोग घायल हो गए। इनमें 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है। 
दरअसल, यह भीषण हादसा गुरुवार सुबह करीब 8 बजे बेमेतरा जिले में रायपुर-बिलासपुर हाईवे पर नांदघाट क्षेत्र में टेमरी गांव के पास हुआ है। जहां पुणे से झारखंड जा रही मजदूरों से भरी बस को एक ट्रेलर ने सामने से टक्कर मार दी। हादसे की जानकारी लगते ही घटना स्थल पहुंचे स्थानीय ग्रामीणों ने पुलिस को सूचित कर मौके पर बुलाया। इसके बाद घायलों को बिलासपुर के जिला अस्पताल में भर्ती कर दिया गया। 
चश्मीदीदों ने बताया कि हादसा इतना भयानक था कि बस के परखच्चे उड़ गए। वहीं ट्रेलर चालक की डेड बॉडी स्टेयरिंग में जा फंसी, काफी मशक्कत के बाद कटर से काटकर लाश को निकाला गया। मरने वालों की हालत इतनी खराब थी कि उनके चेहर पहचान नहीं आ रहे थे। ग्रामीणों के सहयोग से पुलिस ने बस में फंसे घायल लोगों को खिड़की तोड़कर बाहर निकला। इनमें 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है। 
 
हादसे की जानकारी देते हुए नांदघाट के टीआई आनंद कामरा ने बताया-हादसे का बड़ा कारण तेज रफ्तार के साथ हाइवे का वन-वे होना भी है। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि हाइवे पर एक ढाबा है, जहां वाहनों की लंबी लाइन लगी रहती है। सरकार ने इसे खोलने की अनुमति तो दे दी लेकिन, वाहनों के पार्किंग की कोई व्यवस्था नहीं है। इसी के कारण दोनों वाहनों की आमने-सामने टक्कर हुई है।