कोरोना के समय फौजी की पत्नी की संदिग्ध हालात में हो गई मौत, घरवालों को संदेह

एक माह से बीमार चल रही विवाहिता की उस समय मौत हो गई, जब उसे अस्पताल ले जाया जा रहा था। मामले में परिजनों ने ससुरालियों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। रामनगर के जोगीपुरा निवासी कैलाश पांडे की बेटी प्रियंका (26) का विवाह साल 2016 में शंकपुर भूल निवासी पंकज जोशी के साथ हुआ। 
पंकज जोशी भारतीय सेना में जम्मू में तैनात हैं। उनका एक ढाई साल का बेटा भी है। पिता ने आरोप लगाया कि ससुराली दहेज को लेकर उनकी बेटी का मानसिक उत्पीड़न करते थे, जबकि उन्होंने अपनी हैसियत से विवाह में खर्च किया था। एक माह से बीमार बेटी के इलाज में ससुरालियों ने लापरवाही बरती। वहीं, मुन्नी देवी ने बताया कि बहू बीमार चल रही थी और उसका इलाज भी कराया जा रहा था। 
बृहस्पतिवार को हालत बिगड़ने पर उसे बृजेश अस्पताल लेकर जा रहे थे, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। एसएसआई जयपाल सिंह चौहान ने बताया कि विवाहिता की मौत की वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगी। मृतका का कोरोना परीक्षण भी कराया जाएगा, ताकि मौत की सही वजह का पता लग सकेगा। पिता कैलाश ने बताया कि वह पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई करेंगे।