चिलचिलाती गर्मी में, दिव्यांग बेटी को बोरे में रखकर साइकिल से घर जाने को मजदूर हैं बेबस

कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र सरकार ने पूरे देश में लॉकडाउन लगाया है। इस लॉकडाउन में सबसे ज्यादा परेशानी गरीब मजदूर को हो रही है। कहीं मजदूर सड़क हादसे में मर रहा है तो कहीं भूख उसकी जान ले रही है। ऐसे में कुछ ऐसी भी तस्वीरे सामने आ रही हैं। 
जो आपको रुला देगीं। एक मजदूर अपनी दिग्यांग बेटी को लेकर साइकिल से दिल्ली से उत्तरप्रदेश ले जाने का मजबूर है क्योंकि बेटी दिव्यांग है इसलिए मजदूर ने उसे साइकिल में एक जुगाड़ के सहारे लटकाया हुआ है।

एक दिव्यांग बेटी है साथ में
यह मजदूर अपने पूरे परिवार को लेकर एक साइकिल से सफर कर रहा है। मजदूर के साथ अन्य बच्चे हैं वह उसके साथ चल रहे हैं मगर इन बच्चों में एक बेटी दिव्यांग है। जिसे मजदूर ने साइकिल से एक बोरे के सहारे बांधकर लटकाया हुआ है। न जाने कितने दिनों तक इस बच्ची को ऐसे ही चलना है। न जाने कितने दिनों से यह लोग ऐसे ही चल रहे है। कुछ खाया है या नहीं इतनी गर्मी में कैसे यह सब एक छोटी सी बच्ची झेल रही होगी। यह तो उसे ही पता है।

साईकिल से कर रहे हैं सफर
आपको बता दें मजदूर के साथ उसकी एक दूसरी बेटी भी है। वह भी मजदूर के पीछे-पीछे चल रही है। पता नहीं यह बच्ची मजदूर की साइकिल को धक्का दे रही है या फिर खेल रही है। मजदूर ने अपनी साईकिल में कुछ खाने का सामान भी रखा हुआ है। जिस के सहारे यह पूरा परिवार अपना सफर कर रहा है।