लॉकडाउन में अस्पताल ने डॉक्टर को निकाल दिया, अब डॉक्टर साहब ठेला लगाकर बेच रहे चाय !

लॉकडाउन में नौकरी से निकालने पर एक डॉक्टर ने सेक्टर-13 में चाय की रेहड़ी लगाकर विरोध जताना शुरू कर दिया है। डॉक्टर्स ड्रेस में डॉ. गौरव शर्मा अपनी पत्नी के साथ सड़क पर दो दिन से रेहड़ी लगा रहे हैं। डॉ. गौरव ने कंपनी की शिकायत सीएम विंडो पर लगाई है। प्रशासन की तरफ से इसकी अब तक कोई हेल्प नहीं की गई है।
डॉ. गौरव का आरोप अस्पताल ने लॉकडाउन में 2 महीने की सैलरी भी नहीं दी। भिवानी के डॉ. गौरव ने बताया कि वह अस्पताल में एक कंपनी के माध्यम से लगे हुए थे। दो महीने से उसकी सैलरी नहीं दे रहे हैं और चार महीने का ओवरटाइम तक नहीं दिया। दिसंबर में डॉक्टर की शादी हुई है। ऐसे में घर का खर्चा चलाना बहुत मुश्किल है। वह किराए के मकान में रहते हैं।
कोरोना की जंग में एक तरफ डॉक्टर्स को जहां कोरोना योद्धा का रूप दिया गया है, दूसरी तरफ डॉक्टर्स को नौकरी से निकालकर तनाव बढ़ा दिया है। डॉक्टर का कहना है कि जब तक उसकी पेमेंट नहीं मिलती वह इसी तरह चाय की रेहड़ी लगाकर विरोध जताता रहेगा। डॉ. गौरव का कहना है कि जब तक कंपनी उनकी सैलरी नहीं देती, वे ऐसे ही विरोध में चाय बनाते रहेंगे। 
जिस कंपनी में डॉ. गौरव शर्मा कार्यरत हैं, उसके यूनिट हेड राकेश ने बताया कि लॉकडाउन में सैलरी देने में दिक्कतें आ रही हैं। डॉ. गौरव ने जो स्टेटमेंट दिया है, वह ठीक नहीं है। वह कई बार गैरकानूनी काम करते पाए गए हैं, जिसे लेकर उन्हें तीन चार बार नोटिस जारी कर चेतावनी दी जा चुकी है। कंपनी के अधिकारी उनसे मिलने गए थे लेकिन उन्होंने मिलने से मना कर दिया।