लॉकडाउन में अपने मां को कभी हिला डुला कर उठाने का प्रयास कर रहा था तो कभी पैरों को चूम रहा था लड़का...

कभी बेसुध मां को हिला-डुला कर उठाने का प्रयास कर रहा था तो कभी पैरों को चूम रहा था। बार- बार राह से गुजरने वाले लोगों पर टकटकी लगाए हुए था। मानो कह रहा हो मेरी मां को उठा दो।मौत के बाद शव को ले जाने लगे तब भी छोड़ने को तैयार नहीं था। शव माहवाहक में रखते ही दो माह का बच्चा भी चढ़ गया। 
बड़ी मशक्कत के बाद बच्चे को वाहन से उतारकर शव ले जाया गया। शहर के पाली रोड के नजदीक सड़क हादसे में घोड़ी की मौत के बाद भावुक कर देने वाला नजारा रहा। आंखों के सामने तड़पते हुए मां की मौत के बाद दो माह का बच्चा शव से लिपटा रहा। मां से दूर जाने को तैयार नहीं था। घटना ३ अप्रैल की सुबह की है। 

यहां तेज रफ्तार वाहन ने घोड़ी को टक्कर मार दी थी। काफी समय तक घोड़ी सडक पर तड़पती रही। कुछ घंटे के भीतर दम तोड़ दिया। घोड़ी के साथ २माह का बच्चा भी कुछ दूरी पर था।हादसे के बाद बार बार बेसुध मां को उठाने का प्रयास करता रहा।