मजदूर महिला को बस में हो गया प्रसव, एसडीएम ने दिखाई मानवता

महाराष्ट्र से मध्य प्रदेश आने वाले मजदूरों में कई गर्भवती महिलाएं भी है। वह भारी परेशानियों का सामना करते हुए अपने घरों तक पहुंचना चाहती है। बुधवार को महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश में आने के दौरान रीवा की गर्भवती महिला रितु ने महाराष्ट्र सीमा उन्हें ही बस में बच्चे को जन्म दिया। महाराष्ट्र परिवहन निगम की बस में सवार महिला जैसे ही मध्य प्रदेश की सीमा पर पहुंची। उसे प्रसव पीड़ा होने लगी और उसने बस में ही बच्चे को जन्म दे दिया। 
जब ये जानकारी सेंधवा एसडीएम घनश्याम धनगर को लगी तो उन्होंने तत्काल महिला और नवजात को अपने सरकारी वाहन से बिजासन से 16 किमी दूर सेंधवा स्थित सिविल अस्पताल भेजा। यहां बीएमओ डॉ. ओएस कलेश ने बताया कि महिला और नवजात दोनों ही स्वस्थ है। महिला की पहली डिलीवरी थी। अंगूरा पति सोनू कुमार ने बताया कि हम सूरत से रीवा जा रहे थे। डिलेवरी एक माह बाद होने वाली थी। डिलेवरी 1 माह पहले हो गई। 

मप्र महाराष्ट्र की सीमा स्थित बिजासनघाट पर बड़ी संख्या में यूपी और बिहार के मजदूर पहुंच रहे है। इस दौरान रात्रि में मजदूरों को रोका जा रहा है। वहीं महाराष्ट्र परिवहन की बसों से लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी मध्यप्रदेश की सीमा से 3 किमी पीछे छोड़ा गया। वहां से मजदूर पैदल मध्यप्रदेश की सीमा में आ रहे है। वहीं यहां पर डिस्टेंस का पालन नहीं किया जा रहा है।