लॉकडाउन में युवक की हो गई मौत, संस्कार के नहीं थे पैसे तो परिजनों ने घर के आंगन में दफना दिया शव

भागलपुर शहर के इशाकचक सर्व मंगला काली स्थान के पास रहने वाले 30 साल के गुड्‌डू मंडल की मिर्गी से मौत हो गई। घरवालों के पास दाह-संस्कार के पैसे नहीं थे तो शव को घर के आंगन में दफना दिया। शनिवार सुबह मोहल्लेवालों को शव दफनाने की जानकारी मिली तो पुलिस को सूचना दी गई। 
थानेदार संजय कुमार सुधांशु और वार्ड पार्षद कल्पना देवी की मौजूदगी में जमीन खोद कर लोगों ने गुड्‌डू शवको निकाला गया। परिजनों के मुताबिक, मृतक कचरा चुनता था और वह मानसिक रूप से कमजोर था। मृतक के बड़े भाई ओम प्रकाश मंडल ने बताया कि शुक्रवार की रात गुड्‌डू को मिर्गी का दौरा पड़ा था। उसके मुंह से झाग भी आ रही थी। हमलोग ने हाथ-पैर दबाया तो वह ठीक हो गया। इसके बाद हमलोग सोने चले गए। सुबह नींद खुली तो देखा कि गुड्‌डू मर चुका है। 

दाह-संस्कार के लिए हम लोगों के पास पैसे नहीं थे। इस कारण घर के आंगन में गढ्‌ढा कर लाश को दफना दिया। लाश को दफनाने में ओम प्रकाश के साथ उसके दोनों बेटों ने भी सहयोग किया। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मृतक के भाई व दोनों भतीजे को निगरानी में रखा है। अगर पोस्टमार्टम में हत्या का खुलासा होगा तो परिजनों पर पुलिस कार्रवाई करेगी।