बिहार में कोई जिला ग्रीन जोन में नहीं, पूरे बिहार राज्य में रहेगी कर्फ्यू जैसी सख्ती

देशभर में लॉकडाउन का तीसरा चरण आज से शुरू हो रहा है जो 17 मई तक रहेगा. इस दौरान पहले दो लॉकडाउन की तुलना में कुछ अधिक राहत के ऐलान किए गए हैं. हालांकि केंद्र द्वारा घोषित 13 ग्रीन जोन  जिले बिहार में मान्य नहीं होंगे. बिहार में कोई भी जिला ग्रीन जोन में नहीं रहेगा. बिहार में सिर्फ 2 जोन होंगे, एक रेड जोन और दूसरा ऑरेंज जोन. गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुभानी ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है.

अधिक कड़ाई से लागू होगा लॉकडाउन
बिहार सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि नए-नए क्षेत्रों में कोरोनावायरस (Coronavirus) का लगातार प्रसार हो रहा है. साथ ही आगामी कुछ दिनों में अन्य राज्यों से प्रवासी मजदूरों और छात्रों की बड़ी संख्या के आगमन की स्थिति में आवश्यक हो गया है कि राज्य में लॉकडाउन को अधिक कड़ाई से लागू किया जाए. इसमें बताया गया है कि अब बिहार में दो ही प्रकार के जोन होंगे. पहला रेड जोन के जिले जो भारत सरकार के मापदंडों के अंतर्गत समय-समय पर रेड जोन के रूप में अधिसूचित किए जाएंगे और दूसरा राज्य के सभी बाकी जिले ऑरेंज जोन माने जाएंगे.

मालूम हो कि केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से पटना सहित पांच जिलों को रेड जोन में और 20 जिलों को ऑरेंज व 13 जिलों को ग्रीन जोन में रखा गया था. केंद्र सरकार की गाइडलाइन में यह भी लिखा है कि राज्‍य सरकारे चाहे तो अपनी जरूरतों के अनुसार इसमें परिवर्तन कर सकती हैं.

‘लॉकडाउन तोड़ने पर होगी कड़ी कार्रवाई’
डीजीपी गुप्‍तेश्‍वर पांडेय ने कहा कि जो भी लॉकडाउन को तोड़ेगा, उसके खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी. शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू जैसी सख्ती बरती जाएगी. यहां तक कि जिन्हें पास दिए गए हैं, उन वाहनों का भी परिचालन नहीं होगा. उन्होंने कहा कि बिहार में लॉकडाउन 3 में भी कमोबेश लॉकडाउन 2 की तरह ही हालात बने रहेंगे. बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने स्पष्ट कर दिया है कि लॉकडाउन 3 में बिहार के किसी भी जिले में यानी कि ना तो रेड जोन में और ना ही ऑरेंज जोन में कोई अतिरिक्त रियायत या छूट मिलने जा रही है.

डीजीपी ने कहा कि बिहार के पटना समेत 5 रेड जोन जिले तो पहले की तरह ही बने रहेंगे लेकिन बिहार के 33 जिले जो ऑरेंज जोन घोषित किए गए हैं वहां भी दुकानों को खोलने की इजाजत नहीं मिलेगी. उन्होंने कहा कि कुछ जरूरी सामानों की दुकानें जो पहले खुल रही थीं, वही खुलेंगे यानी कि ऑरेंज जोन में भी ना तो नाई की दुकान, न कपड़े की दुकान और ना ही स्टेशनरी वगैरह खुलेंगे. कुछ विशेष परिस्थितियों में विशेष दुकानों को खोलने के आदेश का अधिकार जिला प्रशासन को होगा.

बता दें कि बिहार में रविवार को 18 नए कोरोना पीड़ित सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि भागलपुर से 6, पश्चिम चंपारण से 5, पूर्वी चंपारण से 4 मरीज मिले हैं. जबकि शिवहर, बक्सर और सीवान से एक-एक नए मरीज का पता चला है. बिहार में अब कोरोना पीड़ितों की संख्या 503 हो गई है.