रात में गाँव के लड़कों ने तालाब में फेंक दिए लड़की को, तीन पडोसियों पर नज़र

सिंहवाड़ा के अस्थुआ में एक युवती अस्थुआ वार्ड एक के कपिंद्र महतो की बीस वर्षीय पुत्री रूपा कुमारी की हत्या से सनसनी फैल गई है। हत्या के बाद अस्थुआ गांव के एक डबरे में रुपा की लाश फेंककर अपराधी फरार हैं। हत्या कर फेंकी गई लाश को गांव के रकसी गाछी डबरा में उपलाते देख ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। बाद में पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया है।
जानकारी के अनुसार, रूपा के पिता ने इस मामले में तीन लोगों पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें पड़ोसी  राम सेवक यादव के पुत्र पचीस वर्षीय पंकज कुमार यादव व उसकी मां पूनम देवी, बहन नूतन कुमारी के खिलाफ स्थानीय  थाना में प्राथमिकी  दर्ज कराई है। रुपा के पिता कपिंद्र महतो ने दर्ज एफआईआर में कहा है,उनकी पुत्री रूपा 19 मार्च को संध्या 6.30 बजे से घर से गायब होने पर जब खोजबीन की।

बीस मार्च की सुबह आठ बजे ग्रामीणों ने बताया, गांव उतरी गाछी के डबरा में एक युवती की लाश पानी में तैर रही है। सत्यापन करने पर शव की पहचान रूपा के रूप में की गई। बताया, आरोपी पंकज व उसकी मां बहन ने  बहला-फुसला कर रूपा की हत्या कर शव को सुनसान स्थल पर ठिकाना लगा दिया है। उन्होंने पुलिस को बताया, आरोपी युवक पंकज ने धमकी दी थी, रूपा की  शादी मुझसे नहीं होगी तो उसे बर्बाद कर देंगे।
हाल ही में रूपा की शादी दरभंगा शुभंकरपुर में 11 जून को तय कर तैयारी कर रहे थे। इस प्रतिशोध में पंकज ने परिजन के सहयोग से  हत्या कर दी है। उधर, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार युवक-युवती के बीच लगभग दो वर्षों से नजदीकी थी। युवती की शादी अन्य जगह तय होने से वह नाराज थी। 19 मार्च की शाम युवती के घर से गायब होने पर परिजनों ने खोजबीन कर पंकज को अपने कब्जा में रात भर रखा जिसकी जानकारी गांव के चौकीदार को भी है।
इसके बाद शुक्रवार की सुबह रूपा की लाश पानी में मिलने की सूचना जैसे मिली युवती के पिता गाछी की तरफ देखने चले गए। इस बीच पंकज मारपीट के डर से कहीं निकल गया। थाना अध्यक्ष अकमल खुर्शीद ने देशज टाइम्स को बताया, आवेदन के आलोक में तीनों नामजद पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हत्या के कारण का खुलासा हो पाएगा। मौत कब व कैसे हुई है। फिलहाल गांव में तरह-तरह की चर्चा है।