लॉकडाउन के समय तस्करी का ऐसा तरीका, BSF ने कद्दू के अंदर से बरामद किया 325 फेंसिडिल की बोतलें

कोरोना को लेकर पूरे देश में इस समय लॉकडाउन है, लेकिन बंगाल में भारत-बांग्लादेश सीमा पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों को इस वैश्विक महामारी के साथ नशीले पदार्थों की तस्करी के खिलाफ भी लड़नी पड़ रही है। इस महामारी के समय में भी मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले अपराधी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सुरक्षाबलों की नजरों से बचने के लिए तस्कर हमेशा कई अजब- गजब तरीके अपनाकर तस्करी का प्रयास करते हैं।
लॉकडॉउन के बीच बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर सजग बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने तस्करी के एक ऐसे मामले का पर्दाफाश किया है जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। 112वीं बटालियन के जवानों ने बीओपी हकीमपुर इलाके में तस्करों के मंसूबे को नाकाम करते हुए कद्दू (कुम्हर) के अंदर में छिपाकर रखी गई 325  फेंसिडिल की बोतलें पकड़ी है जिसे बांग्लादेश में तस्करी की जानी थी। 

बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के डीआइजी सुरजीत सिंह गुलेरिया ने बताया कि पहली बार उस क्षेत्र में इस तरह की तस्करी का एक नया तरीका सामने आया है, जिसको देखकर हमलोग भी हैरान हैं। उन्होंने बताया कि इससे पहले मुर्शिदाबाद के दयारामपुर सीमा चौकी इलाके में पिछले महीने अप्रैल के प्रथम हफ्ते में हमारे जवानों ने जीरो लाइन पर खेतों में काम कर रहे किसानों को फेंसिंग गेट के माध्यम से भोजन पहुंचाने के लिए ले जाए जा रहे खिचड़ी से भरे एक बड़े पतीला से फेंसिडिल की 45 बोतलें पकड़ी थी।

इधर, इस घटना के बारे में बीएसएफ की ओर से बताया गया कि बुधवार को एक पुख्ता खुफिया सूचना के बाद कोलकाता सेक्टर अंतर्गत बीओपी हकीमपुर में तैनात 112वीं बटालियन के जवानों ने हकीमपुर मार्केट के पास सोनाई नदी के किनारे निगरानी शुरू की। सर्च ऑपरेशन के दौरान कद्दू से भरे दो बैग बरामद किए गए। इसके बाद बीएसएफ जवानों की टीम इसे लेकर बीओपी हकीमपुर आई। यहां जांच में कद्दू के अंदर से फेंसिडिल की 345 बोतलें बरामद की गई। कद्दू के अंदर फेंसिडिल की बोतलें देखकर सभी हैरत में पड़ गए।

जब्त फेंसिडिल का मूल्य 53,223 रुपये है। बीएसएफ ने आगे की कार्रवाई के लिए इसे स्थानीय थाने को सौंप दिया है। उल्लेखनीय है कि मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवान लगातार अभियान चला रहे हैं। इस साल अब तक फ्रंटियर के जवानों द्वारा करीब 97,000 से ज्यादा फेंसिडिल की बोतलें जब्त की जा चुकी है, जब उसे बांग्लादेश में तस्करी की जा रही थी।