ट्रेन से उतरे बच्चे को नंगे पैर देख RPF जवान ने पहनाई चप्पल, रेल मंत्री ने शेयर किया

कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से देश के अलग-अलग हिस्सों में फंसे मजदूरों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. हजारों की संख्या में मजदूर हर दिन अपने गांव लौट रहे हैं. इनमें से कुछ मजदूरों की दशा काफी खराब होती है. इनकी दशा देख हर किसी का दिल पसीज जाता है. मध्य प्रदेश के जबलपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से नंगे पैर उतरे ऐसे ही एक बच्चे को देखकर आरपीएफ के एक जवान का दिल पसीज गया.
आरपीएफ के जवान उस बच्चे को रोका और खुद ही उसे चप्पल पहनाई. इसके बाद बच्चा अपने परिवार के साथ आगे चला गया. इस पूरे वाक्या का वीडियो रेल मंत्री पीयूष गोयल ने शेयर किया है. रेल मंत्री गोयल ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, "कोरोना संकट में स्टेशनों पर तैनात हमारे RPF के जवान यात्रियों की सेवा व सुरक्षा में दिन रात जुटे हैं. ऐसे ही जबलपुर स्टेशन पर श्रमिक के बालक को नंगे पैर देखकर RPF जवान ने मानवीयता दिखाते हुए एक जोड़ी चप्पल दिलाई. मुझे गर्व है कि हमारे जवान सेवा भाव से ड्यूटी का पालन कर रहे हैं." 

मध्य प्रदेश के दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को वापस लाने का काम जारी है. अब तक ऐसे लगभग साढ़े तीन लाख मजदूरों वापस जाया जा चुका है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा की.

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा, "प्रदेश में अभी तक तीन लाख 39 हजार मजदूरों को दूसरे राज्यों से मध्य प्रदेश लाया गया है. वहीं दूसरे प्रदेशों के मजदूरों को भी राज्य की सीमा पर छुड़वाया जा रहा है. इस काम में कुल 10 हजार बसें लगाई गई हैं. साथ ही 77 ट्रेनें भी मध्य प्रदेश आ चुकी हैं. ट्रेनों के लिए पांच करोड़ रुपये रेलवे को जमा करवाए गए हैं, वहीं बसों पर एक करोड़ रुपये प्रतिदिन व्यय किए जा रहे हैं. "