लॉकडाउन के बीच सरकार ने कर्ज लेना किया आसान, SBI ने ब्याज दरों में किया बड़ी कटौती

भारतीय स्टेट बैक (एसबीआई) ने ऋण की अपनी कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (एमसीएलआर) को 0.15 प्रतिशत घटा दिया है। इसके अलावा देश के इस सबसे बड़े बैंक ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक विशेष जमा योजना की भी शुरुआत की है। इसमें वरिष्ठ नागरिकों को अधिक ब्याज मिलेगा। 
एसबीआई ने बयान में कहा कि ब्याज दरों में गिरावट के मौजूदा दौर में वरिष्ठ नागरिकों के हितों को ध्यान में रखते हुये बैंक ने उनके लिए नया उत्पाद ‘एसबीआई वीकेयर डिपॉजिट' पेश किया है। बैंक ने यह योजना खुदरा मियादी जमा खंड शुरू की है। इस नई जमा योजना के तहत वरिष्ठ नागरिकों को पांच साल और उससे अधिक की अवधि की खुदरा मियादी जमा पर 0.30 प्रतिशत अतिरिक्त प्रीमियम दिया जाएगा। योजना 30 सितंबर तक लागू रहेगी।
एसबीआई ने खुदरा मियादी ‘तीन साल तक की' जमा पर ब्याज दर में 0.20 प्रतिशत की कटौती की है। बैंक ने कहा है कि प्रणाली और उसके पास पर्याप्त तरलता की वजह से उसने यह कदम उठाया है। यह कटौती 12 मई से लागू होगी। 
ऋण दरों में संशोधन पर बैंक ने कहा कि उसने कोष की सीमान्त लागत आधारित ऋण दर (एमसीएलआर) को 7.40 प्रतिशत से घटाकर 7.25 प्रतिशत कर दिया है। यह कटौती 10 मई से प्रभावी होगी। बैंक ने कहा कि इससे एमसीएलआर से जुड़े 30 साल के 25 लाख रुपये के आवास ऋण पर मासिक किस्त (ईएमआई) में करीब 255 रुपये की कमी आएगी। बैंक द्वारा यह एमसीएलआर में लगातार 12वीं बार कटौती की गई है।