बेटे को पीठ पर लेकर खेत में बैठी थी महिला, अचानक कुँए में गिरी और फिर हुई दोनों की मौत

गुमला जिले के चैनपुर प्रखंड क्षेत्र के हराटीनटांगर गांव में मासूम बेटे के साथ मां की मौत हो गई है. अपने दो वर्षीय मासूम बेटे अनूप केरकेट्टा के साथ 29 वर्षीया निराली केरकेट्टा की कुएं में डूबने से मौत हो गयी है. घटना मंगलवार की देर शाम की है.
मृतका निराली केरकेट्टा अपने दो वर्षीय मासूम बेटे अनूप केरकेट्टा को पीठ पर बांधकर खेत में लगे बिचड़े की पहरेदारी कर रही थी. इसी बीच भैंस बिचड़ा को खाने के लिए पहुंचा. निराली केरकेट्टा उसे भगाने के लिए दौड़ी. इसी बीच खेत के बगल में बने एक पुराने कुएं में डूब गई. कुएं में पानी लबालब भरा हुआ था. उसमें फिसल कर वह गिर गई. कुएं में डूबने से दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी.
ग्रामीण निराली केरकेट्टा की खोजबीन करने लगे, तो बिचड़ा लगे खेत के बगल में बने कुएं के पास उसका चप्पल दिखाई दिया. जिसके बाद संदेह होने पर झगड़ डाल कर कुएं से शव को निकाला गया. सबसे पहले महिला को निकाला गया. बाद में काफी मशक्कत के बाद 2 वर्षीय मासूम अनूप केरकेट्टा का शव निकाला गया.
आनन-फानन में ग्रामीण दोनों को लेकर चैनपुर स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, लेकिन तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी. इधर, इस घटना से पूरे गांव में मातम सा छा गया है. घटना के बाद चैनपुर पुलिस ने स्वास्थ्य केंद्र पहुंच कर शव को अपने कब्जे में ले लिया है. आज शवों को पोस्टमार्टम के लिए गुमला भेजा जायेगा.