हीरे की अंगूठी न मिलने पर सिपाही ने पत्नी को घर से भगाया

दरोगा ने बेटी के साथ एसएसपी कार्यालय में शिकायत की है। मूल रूप से गाजियाबाद निवासी दरोगा विनोद कुमार बागपत में तैनात हैं। उन्होंने अपनी बेटी कीर्ति कुमारी की शादी गाजियाबाद पुलिस लाइन निवासी युवक के सिपाही बेटे के साथ एक दिसंबर 2017 को की थी। उनका दस माह का बेटा आरभ है। सिपाही बरेली पुलिस लाइन में तैनात है और पुलिस लाइन आवास में रहता है। 
दरोगा ने बताया कि बेटी की शादी में कार, जेवर समेत कई सामान दिया था। दामाद जेवर की मांग करने लगा। बीते दिनों वह अपनी मां के लिये गहने व हीरे की अंगूठी बनवाने के लिये उनकी बेटी को प्रताड़ित कर रहा था। महिला ने कहा कि उनके पिता डिमांड पूरी नहीं कर सकते तो वह मारपीट पर उतर आया। महिला ने आरोप लगाया कि तीन बार ससुराली गला दबाकर मौत के घाट उतारने की कोशिश कर चुके हैं। 

बीते दिनों पति की बातचीत पत्नी ने सुन ली। जिसमे सिपाही ने पत्नी को रास्ते से हटाकर दूसरी शादी करने का जिक्र किया। यह सुनकर महिला को झटका लगा। सोमवार को हुई मारपीट के बाद महिला ने अपने पिता को जानकारी दी। दरोगा बागपत से बरेली पहुंची। सिपाही ने बेटा छीनकर महिला को घर से निकाल दिया और दरोगा ससुर के साथ गाली गलौच भी की। 

महिला पिता के साथ एसएसपी कार्यालय पहुंचे। पहले उन्होंने शिकायत सुन रहे एसपी ट्रैफिक सुभाष चन्द्र से शिकायत की। उसके बाद एसपी ग्रामीण डॉ संसार सिंह से शिकायत की। अधिकारियों ने महिला को कार्रवाई का आश्वासन दिया है।