करंट से मरे युवक की पत्नी ने दो दिन बाद पुत्र को दिया जन्म

भगवानपुर हाट के भगवानपुर गांव में सोमवार की रात बिजली के करंट से मरे युवक मदन मांझी की पत्नी रेखा देवी ने शुक्रवार को सीएचसी में पुत्र को जन्म दिया। लेकिन यह नवजात अपने पिता को नहीं देख सका। लोगों का कहना है कि भगवान की यह कैसी महिमा है। परिवार में खुशियां तो दीं, लेकिन इसके पहले एक बड़ा दुःख दे दिया। इससे पुत्र रत्न की प्राप्ति की खुशियां फीकी पड़ गई। 
हालांकि इससे परिवार को थोड़ी राहत जरूर मिली है, क्योंकि उसका वंश वृद्धि हुआ है। पहले उसे मात्र दो छोटी-छोटी पुत्रियां हीं थी। सोमवार की रात बिजली का तार जोड़ने के दौरान करंट लगने से नवजात के पिता की मौत हो गई थी। वह राम एकबाल मांझी का 32 वर्षीय पुत्र मदन मांझी था। 
पुत्र जन्म लेने की खुशी में उसकी पत्नी ने कुछ पल के लिए पति के मौत का गम भुला दिया था। लेकिन जैसे हीं रेखा ने प्रसव पीड़ा से छुटकारा पाई और पुत्र के रूप में पति की निशानी को सोया पाया तो वह पति की याद में फूट फूट कर रोने लगी। पोता के जन्म लेने पर पुत्र वियोग में काफी हद तक टूट चुके रामएकबाल मांझी यह कहते सुने गए की मदन के रूप में उनके बुढ़ापा का लाठी(पोता)आ गया।