दो जने एक दूजे के हुए, पुलिस ने कराई दहेज रहित शादी

मेरापुर थाना क्षेत्र के गांव अचरिया निवासी शिवांगी के पिता का काफी वषार्े पहले निधन हो गया था। वह अपने कन्नौज जनपद के गांव सराय मारूफ में रह रही थी। चार वर्ष पहले उसके बाबा ने कुबेरपुर निवासी अनमोल से शादी तय कर दी थी लेकिन युवती के ननिहाल वाले शादी को राजी नहीं थे। 
शनिवार को घबराई हुई युवती कोतवाली पहुंची और इंस्पेक्टर डा़ विनय प्रकाश राय को अपनी पीड़ा बताते बताते फफक कर रो पड़ी। युवती ने बताया कि उसके ननिहाल वाले दूसरी जगह शादी करना चाहते है। इस पर पुलिस ने तुरन्त उसके बाबा को बुलाया। युवती के बालिग होने के प्रमाण दिए गए।

पुलिस ने लड़के वालों को भी कोतवाली बुलाया। जहां बिना दहेज के शादी के लिए राजी हो गए। इस पर पुलिस ने कोतवाली गेट पर बने हनुमान मंदिर में शादी करवा दी। दोनो पक्षों के खुशी का ठिकाना न रहा। इंस्पेक्टर ने बताया कि युवती बालिग थी। दोनो परिवारों की राजी से विवाह संबंध कराया गया है।