मेक्सिको में जन्मे इन तीन बच्चों ने हॉस्पिटल में मचा दिया हड़कंप

कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है. इस महामारी की चपेट में पूरी संसार है. हर रोज संक्रमण के मुद्दे तेजी से बढ़ रहे हैं. इस बीच एक अजीबोगरीब समाचार सामने आई है. जिसने चिकित्सा जगत के साथ लोगो को भी अचंभित कर दिया है. यह मुद्दा है मेक्सिको का, जहां 17 जून को जन्मे ट्रिपलेट्स यानी एक साथ जन्मे तीन बच्चों ने सबको दंग कर दिया है. हॉस्पिटल में हड़कंप तब मचा जब माता-पिता का कोरोना वायरस टेस्ट किया गया साथ ही 3 बच्चों का भी कोरोना टेस्ट हुआ. 
दंग कर देने वाली बात यह थी कि माता-पिता कोरोना नेगेटिव निकले, वही बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए. डॉक्टर्स इस बात से दंग है कि ये नवजात आखिर कैसे वायरस के संपर्क में आए. जांच कर रहे स्वास्थ्य अधिकारियों का बोलना है कि नवजात में संक्रमण मां व पिता से नहीं फैला क्योंकि दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव नहीं आई. नवजातों के जन्म के समय यह संभावना जताई गई थी इनमें कोरोना का संक्रमण एसिम्प्टोमैटिक मां से फैला, लेकिन जाँच में इसकी पुष्टि नहीं हुई.

एक अंग्रेजी अखबार में छपी रिपोर्ट के मुताबिक मेक्सिको की स्वास्थ्य सचिव मोनिका रंगेल के मुताबिक इस सारे मुद्दे की छानबीन जारी है क्योंकि ये संसार में यह पहला मुद्दा सामने आया है. स्वास्थ्य अधिकारियों का बोलना है कि उन्होंने इससे पहले ऐसा कोई मुद्दा ना तो देखा था व ना ही सुना है. इन ट्रिपलेट में एक लड़की व दो लड़के हैं. पैदा होने के चार घंटे बाद सान लुइस पोटोसी में इनका कोरोना वायरस टेस्ट कराया गया था जहां इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी.

मोनिका रंगेल ने एक कॉन्फ्रेंस के दौरान बयान दिया कि, 'बच्चों के माता-पिता के कोरोना वायरस टेस्ट नेगेटिव आए व हमारा पूरा ध्यान इस पर है. हमने विशेषज्ञों से इस मुद्दे की जाँच करने का आग्रह किया है.' अमेरिका के येल स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं के मुताबिक, गर्भनाल से कोरोना का संक्रमण फैलने का मुद्दा भी सामने आ चुका है. शोधकर्ताओं के मुताबिक, नवजात में कोरोना का संक्रमण तब होने कि सम्भावना है अगर डिलीवरी के बाद वह किसी संक्रमित इंसान के संपर्क में आया हो. इसके अतिरिक्त कोरोना से संक्रमित मां की कोख से गर्भनाल के जरिए वायरस नवजात तक पहुंच सकता है.